Home / देश-विदेश / एक बार फिर से बंद हो जायेगी ये सेवाए

एक बार फिर से बंद हो जायेगी ये सेवाए

करीब एक साल होने को आया है और दुनिया में फैली म’हामा’री कम होने का नाम नहीं ले रही है सरकार के द्वारा लगातार पर्यास किये जाने पर भी सं-क्रमि’त लोगो की संख्या में कोई कमी नही होने पा रही है ! देश में हर स्तर पर सुरक्षा के कदम उठाये जा रहे है ! समय समय पर सेवायों को बंद और खोला जा रहा है ! लेकिन फिर भी ये म-हामा’री थमने का नाम नही ले  रही है  सरकार के द्वारा सारी सेवायो को खोल देने के बीच अब ये  खबर आई है कि सरकार एक बार फिर से ट्रेन और फ्लाईट की सेवायो को बंद करने वाली है !

को-‘रो”ना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर दिल्ली और मुंबई के बीच फ्लाइट्स और ट्रेन (Flights and Trains) ‘सस्पेंड की जा सकती हैं. महाराष्ट्र सरकार इस बात पर विचार कर रही है कि दिल्ली से आने वाली फ्लाइट्स और ट्रेन पर रोक लगाई जाए. गौरतलब है कि दिल्ली में पिछले कुछ दिनों से एकाएक कोरोना के मामलों में बहुत तेजी आ गई है. केंद्र और राज्य सरकार मिलकर कोविड से निपटने के लिए तैयारियां कर रहे हैं.

अभी तक औपचारिक आदेश नहीं
महाराष्ट्र सरकार के इस विचार को लेकर अब दोनों राज्यों के बीच कोई आधिकारिक बातचीत नहीं हुई है. लेकिन सूत्रों के हवाले से छपी इंडिया टुडे में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक इस संबंध में औपचारिक आदेश जल्द दिया जा सकता है.

दिल्ली में अब होगा घर-घर सर्वे
इससे पहले खबर आई थी कि देश की राजधानी दिल्ली में शुक्रवार से कोरोना को लेकर घर-घर सर्वे शुरू हो रहा है. कोरोना को लेकर होने वाला यह अब तक का सबसे बड़ा सर्वे होगा. गृह मंत्री अमित शाह और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के बीच हुई बैठक में इस सर्वे पर सहमति बनी थी. सर्वे के दौरान 9500 टीमें 13-14 लाख घरों में जाएंगी. हर टीम में 2 से 5 लोग होंगे. यह दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग की टीमें होंगी. दिल्ली के 11 ज़िलों में करीब 57 लाख लोगों की सर्वे के दौरान जांच की जाएगी. यानी यह दिल्ली की चौथाई आबादी का सर्वे होगा. खास बात यह है कि घनी आबादी और कंटेनमेंट ज़ोन में रहने वाले लोगों का भी सर्वे होगा.

ऐसे की जा रही है कॉटैक्ट ट्रेसिंग
याद रहे कि फिलहाल दिल्ली सरकार एक पॉजिटिव मामला सामने आने पर उसके संपर्क में आने वाले 16 लोगों की फोन पर कांटेक्ट ट्रेसिंग कर रही है, लेकिन इस सर्वे टीम को कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग का काम फेस टू फेस करना है. जिन घनी आबादी वाले इलाकों में संक्रमण और कांटेक्ट की संख्या ज्यादा है, वहां पर रैपिड एंटीजन टेस्ट करवाना इस सर्वे टीम की ज़िम्मेदारी होगी.

 

About admin1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *